आदिवासी

आदिवासी

मेरे जन्म से लेकर अब तक, ६० वर्षों से भी अधिक समय दिल्ली में रहते हुए, आदिवासियों की केवल एक…

Read More →
असंभव कुछ भी नहीं

असंभव कुछ भी नहीं

राघव के अध्यापक ने उसकी मदद करके सिखाया की लगन के आगे असंभव कुछ भी नहीं है। सब बच्चे आज…

Read More →
विकलांग नहीं, हमारे जैसे हो तुम

विकलांग नहीं, हमारे जैसे हो तुम

न है भिन्न अंग तुम्हारे, न हो अलग तुम किसी से, मेरे जैसा ही ख़ून दौड़े जिस्म में तुम्हारे वही…

Read More →
सॉरी कहना

सॉरी कहना

आशा की मम्मी ने बताया की दोस्तों को सॉरी कहना ज़रूरी है।  नन्ही आयशा जबसे स्कूल से लौटी थी, उदास…

Read More →
आपातस्थिति की हीरोइन

आपातस्थिति की हीरोइन

रीना ने अपनी ज़िंदगी के फैसलों से अपने आपको आपातस्थिति की हीरोइन बना लिया है। कटिश और केशवा दोनों बहनें…

Read More →
प्लास्टिक मैन

प्लास्टिक मैन

श्री राजगोपालन वासुदेवन को प्लास्टिक मन कह सकते हैं क्यूंकी उन्होने प्लास्टिक का उपयोग ढूंडा। कृष्णा जी ने सामने से…

Read More →
स्कूल ट्रिप

स्कूल ट्रिप

जब बच्चे स्कूल ट्रिप पर जाने लगे, तो उनके प्रिंसिपल ने उन्हें सावधान रहने के लिए एक कहानी सुनाई। आज…

Read More →
अंजलि की पसंदीदा हीरोइन

अंजलि की पसंदीदा हीरोइन

अंजलि ने जब अपनी पसंदीदा हीरोइन के बारे में बताया, तो सबने उसके साथ दिया। आज हिन्दी की अध्यापिका स्कूल…

Read More →
स्वर्ण नगरी

स्वर्ण नगरी

स्वर्ण नागरी कैसे बनती है? ईंट-पत्थरों से या लोगों से? “ज्ञानेंद्र! कल हम लोग स्वर्ण नगरी के दर्शन करने चलेंगे”…

Read More →
गर्मी से बचाव

गर्मी से बचाव

वर्तमान हीरोइन जयेष्ठा को ने गर्मी से भचाव के तरीके बताए। गर्मी की छुट्टियों से पहले सम्मानित विद्यालय में एक…

Read More →
आज की बहादुर रेड राइडिंग हूड

आज की बहादुर रेड राइडिंग हूड

आज की बहादुर रेड राइडिंग हूड ने लोमड़ी को चकमा देना सीख लिया है। बहुत दिनों के बाद, छोटी रेड…

Read More →
कर्मों का चमत्कार

कर्मों का चमत्कार

विवेक ने सीखा कि कर्मों का चमत्कार तभी होता है जब हमारे कर्म अच्छे हो।  रात के १० बज चुके…

Read More →
चाँद तारों की परी

चाँद तारों की परी

गुंजन एक परी बनना चाहती थी, जो चंद-तारों की सैर कर सके। राहुल कुमार जी का पूरा परिवार दिल्ली के…

Read More →
परी

परी

परियों की कहानी पढ़ते पढ़ते सो जाती जागती तो उनकी कल्पना में खो जाती माँ जब ख़ुशी से होती भरी…

Read More →
जानवरों के साथी हाथी

जानवरों के साथी हाथी

नन्हें आरव के दादाजी ने उसे जानवरों के साथी हाथी के बारे में बताया। नन्हा अरनव कल ही अपने स्कूल…

Read More →
सच्ची दोस्ती

सच्ची दोस्ती

सक्षम ने मोहन से सच्ची दोस्ती का मतलब जाना। मोहन एक बहुत ही होनहार छात्र था। बड़ों का आदर करना,…

Read More →
साक्षात्कार का सामना आत्मविश्वास से करें

साक्षात्कार का सामना आत्मविश्वास से करें

क्या आप जानना नहीं चाहते कि साक्षात्कार का सामना कर अच्छा प्रदर्शन कैसे करें? साक्षात्कार को तोड़ने में आपकी सहायता…

Read More →
चित्रांगदा और जलपरी रूही

चित्रांगदा और जलपरी रूही

चित्रांगदा एक नयी दोस्त बनती है, जलपरी रूही, जो उसकी मदद करती है। चित्रांगदा किशनगढ़ के राजा विक्रम सिंह की…

Read More →
आधुनिक परी जैसी सोच

आधुनिक परी जैसी सोच

सुगंधा की प्यारी सोच की वजह से वह ‘आधुनिक परी’ कहलाई। ६ साल की बिटिया, सुगंधा का जन्मदिन आनेवाला था।…

Read More →
दशरथ मांझी – भारत के ‘माउंटेन मैन’

दशरथ मांझी – भारत के ‘माउंटेन मैन’

भारत के माउंटेन मैन दशरथ मांझी एक परी कथा से सुंदर राजकुमार या बहादुर लकड़हारे की तरह प्रतीत नहीं हो…

Read More →
पढ़ने का आत्मविश्वास

पढ़ने का आत्मविश्वास

कस्तूरबा मैम ने मिथिला में पढ़ने का आत्मविश्वास जगाया। एक समय की बात है, रावल नाम के शहर में, मिथिला…

Read More →
पाब्लो पिकासो: एक महान चित्रकार

पाब्लो पिकासो: एक महान चित्रकार

पिया की फ़्रांस यात्रा से उसे पाब्लो पिकासो के चित्र और उसके बारे में जानने को मिला। पिया अपने माता-पिता…

Read More →
दर्जी चिड़िया, एक नन्ही कलाकार

दर्जी चिड़िया, एक नन्ही कलाकार

नवजोत ने अपनी छुट्टियों में दर्जी चिड़िया के बारे में सीखा। नवजोत की गर्मियों की छुट्टियाँ शुरू हो चुकी थीं।…

Read More →
समझदार छोटू

समझदार छोटू

समझदार छोटू अप्पू ने पानी की बरबादी के बारे में बताया। सर्दी में सूरज, गर्मी में जल से प्यार हो…

Read More →
छोटा कद

छोटा कद

सजल ने जान की छोटा कद किसी की महान काम करने से नहीं रोक सकता। “मधु मैम दूसरी कक्षा का…

Read More →
अरुण की बुद्धिमानी

अरुण की बुद्धिमानी

अरुण ने अपनी बुद्धिमानी से गाँव को बाढ़ से बचाया। यह कहानी मैरी मैप्स डॉज की किताब ‘हंस ब्रिंकर’ पर…

Read More →
छोटा जीनियस तुममें भी कही छिपा है

छोटा जीनियस तुममें भी कही छिपा है

आप सब में एक छोटा जीनियस छुपा है। बस उसे ढूंढने की देर है। महान वैज्ञानिक अल्बर्ट आइन्सटाइन ने कहा…

Read More →
दिमाग की पहेली

दिमाग की पहेली

वार्षिक इंटर-स्कूल प्रतियोगिता में भाग लेते हुए वर्तिका और पलक ने जाना कि दायें और बायें दिमाग की पहेली क्या है।  First…

Read More →
कामयाबी की अभिलाषा

कामयाबी की अभिलाषा

बुलबुल ने सीखा कि कामयाबी की अभिलाषा के साथ-साथ उसे अपनी हार को स्वीकार करना भी आना चाहिए।  First published in…

Read More →
गलती का निवारण

गलती का निवारण

गलतियाँ सभी से होती हैं, चाहे वो बड़े हों या छोटे। पर गलती का निवारण करना जरूरी है।  First published…

Read More →
शैतान मोनू

शैतान मोनू

पाँच वर्ष के मोनू की शैतानियाँ दिन प्रतिदिन बढ़ती जा रहीं थीं। वह घर में दादी, बाबा, मम्मी, पापा सभी…

Read More →
पतंग

पतंग

First published in August 2016 लटक-झटक, मटक-मटक, चली चली रे चली, मैं उड़ चली, हवा के साथ-साथ मैं बह चली,…

Read More →
हाथी का घमण्ड

हाथी का घमण्ड

गज्जू हाथी का घमंड उसे मुसीबत में डाल देता है।  First published in July 2017 नंदनवन में गज्जू नाम का…

Read More →
बुरी बात

बुरी बात

शालू ने सीखा कि किसी को कष्ट देकर मजा करना बुरी बात है।  First published in October 2016 नन्हे शालू…

Read More →
नन्ही गुड़िया

नन्ही गुड़िया

नन्ही सी एक गुड़िया रानी कल तक गोद लिए थीं नानी सुनती थी नित नयी कहानी हो गयी है अब…

Read More →
शरारत का पुराना केक

शरारत का पुराना केक

रवि ने सीखा की जरूरत से ज्यादा शरारत नहीं करनी चाहिए।   First published in February 2017 रवि एक शरारती लड़का…

Read More →
जूते ने दिमाग खोला

जूते ने दिमाग खोला

मुन्ना की ताई बचपन से गाँव में रहीं थी। उनकी शादी भी ताऊ से गांव में ही हो गई थी।…

Read More →
अजगर का वध

अजगर का वध

‘अजगर’ शब्द सुनते ही किसी के भी दिमाग में डर और साथ ही हास्य के भावों की उत्पत्ति होती है।…

Read More →
उसकी लिखावट

उसकी लिखावट

किसी का व्यक्तित्व जानने के लिए उसकी लिखावट समझना काफी है।  First published in May 2017 “अरे अंजु! क्या तुमने…

Read More →
दिव्यांग की उड़ान

दिव्यांग की उड़ान

दिव्यांग लोगों को ईश्वर ने कुछ अलग शक्ति दी है। यही उनको उड़ने की शक्ति देती है।  First published in…

Read More →
शरारत

शरारत

रवि ने अपनी विनम्रता से उसपर हुई शरारत को वरदान में बदल दिया।  First published in December 2016 कंपाउंड में…

Read More →
पृथ्वी दिवस

पृथ्वी दिवस

इस पृथ्वी दिवस पर सोचिए कि आप पर्यावरण में कितना बदलाव ला रहे हैं। “हम भूल गए हैं कि कैसे…

Read More →
सिंहासन बत्तीसी – कहानी पुतली तारामती की

सिंहासन बत्तीसी – कहानी पुतली तारामती की

सिंहासन बत्तीसी के अगले भाग में तारामती विक्रमादित्य के अतिथि सत्कार के बारे में बताती है। सत्रहवें दिन राजा भोज…

Read More →
पर्यटन का महत्त्व

पर्यटन का महत्त्व

भोला भालू ने पर्यटन का महत्त्व समझते हुए उसके लाभ बताए। गुजरात स्थित गिर राष्ट्रीय उद्यान, वन्य अभ्यारण्य कई जीव-जन्तुओं…

Read More →
भारतीय सेना की अनोखी तहज़ीब

भारतीय सेना की अनोखी तहज़ीब

ईशा अपने मामाजी के घर छुट्टियाँ बिताने आई थी। वो भारतीय सेना की अनोखी ज़िंदगी देखकर प्रेरित हुई। ‘रेलगाड़ी की…

Read More →
अपनी संस्कृति

अपनी संस्कृति

अब बदल गया है सब कुछ, छोटी-छोटी दुकाने हो गये है मॉल, पार्क लगातार हो रहे है कम, किक्रेट बल्ले…

Read More →
विश्व धरोहर ताजमहल

विश्व धरोहर ताजमहल

कृति आगरा में ताज महल में शाहजहाँ से मिलती है। वे उसे अपना दुख बताते हैं। कृति आगरा का ताजमहल…

Read More →
वास्तविक  संस्कृति

वास्तविक संस्कृति

शशांक और सिद्धार्थ ने पैर छूने की वास्तविक संस्कृति बताई। शशांक और सिद्धार्थ जुड़वा भाई लगभग ७ वर्ष के थे।…

Read More →
न्याय का फैसला

न्याय का फैसला

एक राजा ने न्याय का फैसला लेकर अपने राज्य में खुशहाली फैलाई। अवंतिका नाम की नगरी में एक राजा राज्य…

Read More →
सीख

सीख

न कर कभी तू ऐसी शैतानी, कि किसी के लिए बन जाए वो परेशानी हर दम कर अपनी मनमानी, बन…

Read More →
पीसा की मीनार

पीसा की मीनार

प्रियांश को पिसा की मीनार देखने का बहुत मन था। पर उसके पापा ने उसे पहले भारत की अद्भुत चीज़ें…

Read More →
प्रकृति की कलाकृतियां

प्रकृति की कलाकृतियां

प्रकृति की कलाकृतियां दर्शाते यह अनोखे पेड़ देखते ही बनते हैं। शहर में घूमते हुए, मैं लिखने के लिए कोई…

Read More →
मातृभाषा का महत्व

मातृभाषा का महत्व

भावेश को अपनी मातृभाषा का महत्व देर से समझ आया, पर आ गया। भावेश गुजरात का रहने वाला था। दो…

Read More →
आँखों का स्वास्थ्य – असली धन

आँखों का स्वास्थ्य – असली धन

इस लेख में सीखिये की आँखों का स्वास्थ कैसे बनाए रखा जाता है। आँखें भगवान द्वारा हमें दिया गया सबसे…

Read More →
तुम सुखी हिन्दू हो? या परेशान बिंदू हो?

तुम सुखी हिन्दू हो? या परेशान बिंदू हो?

ये लेख हमें सोचने को मजबूर करता है कि सुखी हिन्दू का क्या तात्पर्य है।  डी.इस.सीनियर इंटरनेशनल सेकण्डरी स्कूल मोदीपुरम…

Read More →
रिंकू और चीकू की इंडिया की छुट्टियाँ

रिंकू और चीकू की इंडिया की छुट्टियाँ

रिंकू और चीकू की इंडिया की छुट्टियाँ उनके लिए यहाँ की सभ्यता सीखने का मौका थी। इस बार की गर्मियों…

Read More →
सिंहासन बत्तीसी – कहानी पुतली सत्यवती की

सिंहासन बत्तीसी – कहानी पुतली सत्यवती की

सिंहासन बत्तीसी की अगली कहानी में राजा विक्रमादित्य की उदारता और त्याग के बारे में पढ़िये। चमत्कारी सिंहासन पर बैठने…

Read More →
बनाये शरीर रोगमुक्त

बनाये शरीर रोगमुक्त

बनाये रोगमुक्त अपना शरीर, कुछ बातों का है करना पालन, अपनाये हम सब स्वस्थ जीवन, शारीरिक व्यायाम करें हर रोज़,…

Read More →
शिवलिंग और दूध

शिवलिंग और दूध

अनुभव और उसके दोस्तों ने शिवलिंग और दूध की धार्मिक परंपरा बनाए रखे, अनाथालय के बच्चों तक वो दूध पहुंचाया।…

Read More →
अवसर का लाभ

अवसर का लाभ

मीता ने सीखा की अगर दिये हुए अवसर का लाभ न उठाया जाये, तो शायद वो दुबारा न आए। मीता…

Read More →
आत्म सुरक्षा कवच

आत्म सुरक्षा कवच

लीना और उसकी माँ ने आत्म सुरक्षा के बारे में चर्चा की। जब से लीना स्कूल से आई, माँ ने…

Read More →
साहसी राजकुमार

साहसी राजकुमार

साहसी राजकुमार ने दुष्ट दैत्य को हराया और सोनपरी का दिल जीता। परी लोक की रानी बहुत ही चिंतित रहा…

Read More →
जादुई जूते – ९

जादुई जूते – ९

वेंकू, रुहिन, तनुष और आशीष ने अपने जादुई जूते से एक नन्ही बच्ची को अपने घर वापस पहुंचाया। मिस्टर लाल…

Read More →
रावण

रावण

First published in October 2016 बच्चों में आपस में बहस छिड़ गयी की रावण के दस सिर थे या नहीं। अग्रवाल…

Read More →
सोशल मीडिया

सोशल मीडिया

सोशल मीडिया की छायी है चारों तरफ लहर, इसके आने से अब हम सभी हो गये है व्यस्त, ज़माने की…

Read More →
अमज़ोन जंगल की जादुई नीली तितली

अमज़ोन जंगल की जादुई नीली तितली

गगन और गौरी अमज़ोन जंगल की यात्रा पर निकले थे। वहाँ उनके साथ एक विचित्र घटना घटी। आज गगन और…

Read More →
ख़िलौने से गाँव में सुरक्षा

ख़िलौने से गाँव में सुरक्षा

संतोष जी ने गाँव में सुरक्षा बनाने के लिए एक समाधान बताया। गुरुग्राम क्षेत्र में विकास बेहद तेज़ी से हो…

Read More →
सेल्फी का भूत

सेल्फी का भूत

कुछ छात्राओं के सेल्फी के भूत से कक्षा की पिकनिक बीच में ही रद्द कर दी जाती है। कक्षा में…

Read More →
मैं झाँसी की रानी

मैं झाँसी की रानी

सीया झाँसी की रानी की कहानी सुनकर प्रेरित होती है। नन्ही सिया को अपने स्कूल में फैंसी ड्रैस प्रतियोगिता में…

Read More →
आइसक्रीम

आइसक्रीम

First published in July 2016 आइसक्रीम का मौसम आया, हम सब को इसने ललचाया, मुन्ना दादी पास भागा आया, पैसे…

Read More →
उजड़ी बहारें – एक बूढ़े पेड़ की ज़बानी

उजड़ी बहारें – एक बूढ़े पेड़ की ज़बानी

बूढ़े पेड़ भी जीव-जंतुओं को सहारा प्रदान करते हैं। एक मनुष्य ही है, जो उनकी कद्र नहीं करता। इसके अतिरिक्त…

Read More →
अनोखा टीला – लोगों की मदद करना

अनोखा टीला – लोगों की मदद करना

दारा के भरी-भरकम होने से लोगों की मदद हो जाती है। दारा बहुत ही भारी-भरकम और लम्बा था, वह जब…

Read More →
धूप छाँव – खेजड़ी का पेड़

धूप छाँव – खेजड़ी का पेड़

विश्नोई समुदाय को खेजड़ी का पेड़ बहुत महत्वपूर्ण है। पढ़िये उनकी कहानी। धूप छाँव नाम का यह पार्क शहर के…

Read More →
अंतरिक्ष में सुरक्षा

अंतरिक्ष में सुरक्षा

क्या आप जानते हैं की अंतरिक्ष यात्री अंतरिक्ष में सुरक्षा कैसे बनाएँ रखते है? अदिति अपने चाचा से बड़ी नाराज़…

Read More →
महत्वपूर्ण पैसा

महत्वपूर्ण पैसा

सुमित अपना पैसा खुद बनाना चाहता था। उसके भाई पुनीत ने उसे भारत के पैसे के सुरक्षा सुविधाओं के बारे…

Read More →
जादुई जूते (मिशन ८)

जादुई जूते (मिशन ८)

जादुई जूते के अगले आग में पढ़िये कि कैसे बच्चों ने कश्मीर में आतंकवादियों को चकमा दिया। आज टी वी…

Read More →
सिंहासन बत्तीसी – कहानी पुतली मदनवती की

सिंहासन बत्तीसी – कहानी पुतली मदनवती की

सिंघासन बत्तीसी के अगले भाग में मदनवती विक्रमादित्य के त्याग और साहस के बारे में बताती है। पंद्रहवें दिन प्रात:…

Read More →
जादूगर की जादुई बोतल

जादूगर की जादुई बोतल

रजत को एक जादूगर ने जादुई बोतल भेंट में दी। एक आदमी सड़क पर बेतहाशा भागा जा रहा था। वो…

Read More →
मेंढक का सपना

मेंढक का सपना

जंगल में झील किनारे, रहता था मेंढक एक एक दिन पत्थर पे लेटे, धूप रहा था सेक दिन की सुनहरी…

Read More →
पूत के पाँव, पालने से पहचाने जाते है

पूत के पाँव, पालने से पहचाने जाते है

क्या सच में पूत के पाँव पालने से पहचाने जाते है? पालने में तो सभी बच्चों के पाँव एक जैसे…

Read More →
स्व-शिक्षा विज्ञान

स्व-शिक्षा विज्ञान

मुक्ति ने अपनी दोस्त मीरा से सीखा कि विज्ञान में स्व-शिक्षित होने से बच्चे अपनी क्षमता से आगे बढ़ते हैं।…

Read More →
विज्ञानी इंद्रजाल

विज्ञानी इंद्रजाल

अनंत के विज्ञानी इंद्रजाल ने गाँव वालों की आँखें खोल दी। स्कूल में गर्मी की छुट्टियाँ शुरू होने वाली थी।…

Read More →
सूर्य की ऊर्जा

सूर्य की ऊर्जा

पवन ने सूर्य की ऊर्जा के लाभों के बारे में जाना। पवन के मम्मी-पापा को बहुत बुरा लगता कि वह…

Read More →
उनके जैसा बनना है – प्रेरणा लेना

उनके जैसा बनना है – प्रेरणा लेना

अभिनव श्री कल्याणसुन्दरम जी के जीवन से प्रेरणा लेना चाहता था। मगर उसे समझ नहीं आया कि वो उनकी किन-किन…

Read More →
विचित्र ज्ञान – विज्ञान

विचित्र ज्ञान – विज्ञान

सोनू ने अपनी दीदी को समझाया कि ज्ञान सिर्फ पढ़ाई से नहीं आता। सोनू ने अपनी दीदी से पूछा, “दीदी…

Read More →
कोयल

कोयल

कुहू कुहू कर गाती फिरती ढूँढो तो भी नज़र न आती रंग से तो कोयल है काली बोली इसकी बड़ी…

Read More →
चंद्र ग्रहण के विषय में

चंद्र ग्रहण के विषय में

पढ़िये चंद्र ग्रहण के पीछे के विज्ञान के बारे में। कुछ ही माह पूर्व, यदि सटीक कहें तो जनवरी २०१८…

Read More →
डाइटिंग बनाम सही खानपान

डाइटिंग बनाम सही खानपान

अगर आप डाइटिंग करना चाहते हैं तो पहले इस लेख को पढ़िये। यह आपको सही सलाह देगा। हमारे आधुनिक विश्व…

Read More →
गर्मी की छुट्टियाँ

गर्मी की छुट्टियाँ

गमीं की छुट्टियाँ आ गईं थी। गुनगुन कहीं घूमना चाहती थी, मगर अभी तक कोई प्रोग्राम बना नहीं था। First…

Read More →
एक अदभुत सी यात्रा

एक अदभुत सी यात्रा

हमारी लेखक को अपने बचपन की एक अद्भुत सी यात्रा आज भी याद है।  First published in March 2016 यह…

Read More →
ट्रेन की यात्रा

ट्रेन की यात्रा

मोनु ने ट्रेन की सुरक्षा के बारे में सीखा।  First published in September 2016 श्रेया आज बहुत खुश थी। वह…

Read More →
योवा-तपु और ज़ीरो फ़ेस्टीवल

योवा-तपु और ज़ीरो फ़ेस्टीवल

भारत में हर साल ज़ीरो फ़ेस्टीवल में संगीत की कई रचनाएँ देखने को मिलती हैं। इस साल योवा-तपु को भाग लेने…

Read More →
रामोजी (फिल्म सिटी)

रामोजी (फिल्म सिटी)

क्या आपने रामोजी फिल्म सिटि देखी है? अगर नहीं, तो आइये चलते हैं उसकी सैर पर।  First published in October…

Read More →
मीनाक्षी मंदिर

मीनाक्षी मंदिर

मीनाक्षी को बहुत खुशी हुई कि उसके नाम का एक प्रसिद्ध मंदिर - मीनाक्षी मंदिर - भी है।  First published…

Read More →
रेल यात्रा

रेल यात्रा

रिया की एक रेल यात्रा ने उसे जिंदगी से संतुष्ट रहना सिखाया।  First published in July 2017 रिया के ग्रीष्मकालीन…

Read More →
रेलगाड़ी

रेलगाड़ी

रेलगाड़ी छुक छुक करती जाती, हमको सैर सपाटा करवाती, जगह जगह के नज़ारे दिखाती, बस आगे चलती जाती,बढ़ती जाती। राजस्थान…

Read More →
जादुई जूते – भाग १

जादुई जूते – भाग १

इस शृंखला के पहले भाग में पढ़िये कि वैंकू, तनुष, रुहिन, आशीष और जैनी को जादुई जूते कैसे मिले।  First…

Read More →
जीत किसकी

जीत किसकी

अमित ने सीखा कि जीत सिर्फ गाड़ी तेज़ दौड़ाने से नहीं होती।  First published in March 2018 “पापा तेज... और…

Read More →
नौ दोस्त – साहस की कहानी

नौ दोस्त – साहस की कहानी

बसाप्पा व्यापार के लिए अकेला यात्रा कर रह था। पढ़िये उसके साहस की कहानी।  First published in August 2016 कर्नाटक…

Read More →
भूल भुलैया मिठाई

भूल भुलैया मिठाई

कनिका ने लखनऊ में भूल-भुलैया देखी।  First published in May 2017 कनिका को घूमना, नई-नई जगह देखना बहुत अच्छा लगता…

Read More →
बोहाग बिहु की बहार

बोहाग बिहु की बहार

इस साल मेरे स्कूल के बच्चों को असम ले जाया गया। अप्रैल में आने की वजह से बिहू त्योहार देखने…

Read More →
स्थानान्तरण में दोस्ती का रास्ता

स्थानान्तरण में दोस्ती का रास्ता

स्वाती के दादाजी ने उसे स्थानान्तरण में दोस्ती का रास्ता ढूँढना सिखाया।  First published in May 2017 स्वाती के पापा का…

Read More →
परी रानी

परी रानी

अनुपम को परी रानी ने बड़ों का कहना मानना सिखाया।  First published in September 2016 छोटा सा अनुपम घर की…

Read More →
अनन्य की अनुभूति

अनन्य की अनुभूति

नकुल को तमारा से चर्चा करके अनुभूति हुई कि हमेशा वास्तविकता का मार्ग चुनना चाहिए, मिथ्यता का नहीं।  राजस्थान में…

Read More →
सिंहासन बत्तीसी – कहानी पुतली प्रबोधवती की

सिंहासन बत्तीसी – कहानी पुतली प्रबोधवती की

सिंहासन बत्तीसी के अगले भाग में प्रबोधवती राजा विक्रमादित्य की उदारता के बारे में बताती है।  चौदहवें दिन राजा भोज पुनः अनोखे…

Read More →
अद्भुत है भारत

अद्भुत है भारत

मॉडर्न स्कूल के विद्यार्थी प्रतिदिन भारत के बारे में नयी जानकारी सुनाते थे।  मॉडर्न हाई स्कूल में प्रिंसिपल सर ने…

Read More →
जन्मदिन

जन्मदिन

मान्यता की मम्मी ने जन्मदिन से जुड़े कुछ मिथ्य के बारे में चर्चा करी।  १० साल की मान्यता आज बहुत…

Read More →
पहला सफर

पहला सफर

रमन ने रेल में कभी सफर नहीं किया था। उसे नहीं पता था कि उसका पहला सफर किसी के भले…

Read More →
एक जन्मदिन ऐसा भी – अंगदान

एक जन्मदिन ऐसा भी – अंगदान

विनय अपने दोस्त अमन के घर गया। उसके दोस्त की दुर्घटना में मृत्यु हो गयी थी। पर अमन अभी भी…

Read More →
सही समय – सही बात

सही समय – सही बात

जानकी ने जाना कि काली बिल्ली के रास्ता काटने के पीछे की सही बात क्या है। सुचित्रा ५ वर्ष की…

Read More →
नियम से नियम बदला

नियम से नियम बदला

कनिष्क ने अपने दोस्त के परिवार को समझाया कि कौनसे नियम जीवन में शांति लाते हैं।   कनिष्क और काविश…

Read More →
पहल – खाद बनाओ

पहल – खाद बनाओ

अभिनव, पारस, अमित और सुमित ने अपनी छुट्टियों में कॉलोनी वालों को खाद बनाया सिखाया।  अभिनव, पारस, अमित और सुमित एक…

Read More →
रात के समय पेड़ों में बदलाव

रात के समय पेड़ों में बदलाव

अरिहंत ने जाना पेड़ों का राज़।  अरिहंत रात में जब भी पेड़ों के पास जाता, उसके मम्मी-पापा उसे यह कह…

Read More →
विशेष आयोजन – तज़ुर्बेकार सलाहकार

विशेष आयोजन – तज़ुर्बेकार सलाहकार

सरकार ने कुछ तज़ुर्बेकार सलाहकार की सभा बुलाई जिससे वो लोगों का उचित मार्गदर्शन कर सकें।  स्थानीय अखबार में सार्वजनिक…

Read More →
आलस है सबसे बड़ा शत्रु

आलस है सबसे बड़ा शत्रु

शिष्य ने सीखा कि आलस से कुछ नहीं मिलता।  पुराने समय में स्कूल की जगह गुरूकुल होते थे, जहाँ पर…

Read More →
सुचेता कृपलानी: भारत की प्रथम महिला मुख्यमंत्री

सुचेता कृपलानी: भारत की प्रथम महिला मुख्यमंत्री

क्या आप जानते हैं कि सुचेता कृपलानी प्रथम महिला मुख्यमंत्री थीं? अभिमन्यु पर आने वाले सप्ताह में होने वाली अपनी…

Read More →
त्योहार – जीवन ही ज्योति है

त्योहार – जीवन ही ज्योति है

भारत में त्योहार क्यूँ मनाए जाते हैं? पढ़िये अलग अलग पीढ़ियों के विचार।  भारत त्यौहार से भरा देश है। मुख्य…

Read More →
सिंहासन बत्तीसी – कहानी पुतली कीर्तिमती की

सिंहासन बत्तीसी – कहानी पुतली कीर्तिमती की

सिंहासन बत्तीसी के अगले भाग में कीर्तिमाती विक्रमादित्य की उदारता और दयालुता के बारे में बताती है।  अनेक बार निराश होने के…

Read More →
एक दिवाली ऐसी भी

एक दिवाली ऐसी भी

ऋषिता अनाथ आश्रम जाकर बच्चों को भेंट देती है। वो सीखती है कि दिवाली ऐसे भी मनाई जा सकती है। …

Read More →
अंधविश्वास के टीके पर टोका

अंधविश्वास के टीके पर टोका

विद्या एक समझदार बच्ची थी। उसने अपनी दादी के अंधविश्वास को बड़े प्यार से दूर किया।  दादी को अपना पोता विभ्यु और…

Read More →
आप और हम – पीढ़ियों का मिलना

आप और हम – पीढ़ियों का मिलना

कंचन की बेटी की शादी थी और उसने बच्चे और बड़े-बुजुर्ग भी बुलाये थे। शादी के बहाने तीनों पीढ़ियों का…

Read More →
खेल का खजाना

खेल का खजाना

नानी अपने धेवतों के साथ खेलकर समझती हैं कि खेल का असली खजाना दिमाग होता है।   नानी के तीन धेवते…

Read More →
असली दादी कौन?

असली दादी कौन?

पामिनी ने अपनी दादी को नयी काला सीखने के लिए प्रेरित किया।  डेनमार्क से पांच साल की पोती पामिनी का फ़ोन…

Read More →
हाउसबोट

हाउसबोट

अपूर्व ने जाना कि भारत में हाउसबोट कई जगह पायी जाती है।  “लगी शर्त!” “हाँ लगी” “कितने कितने की ?”…

Read More →
एक जादुई शब्द – सौरी

एक जादुई शब्द – सौरी

संचित और ओमी गहरे दोस्त थे, जिनमे झगड़ा हो जाता है। उनमें से सौरी कौन कहेगा? संचित और ओमी अपनी…

Read More →
एक और एक ग्यारह

एक और एक ग्यारह

आपने वो कहावत तो सुनी होगी - एक और एक ग्यारह? पढ़िये उस कहावत पर आधारित एक कहानी।  एक गाँव…

Read More →
बदलता समय

बदलता समय

समय का पहिया आगे बढ़ता जाये, हमको भी साथ में खींच कर लेता जाये, हर पल कुछ न कुछ बदलाव…

Read More →
रंग न होते तो

रंग न होते तो

ये रंग न होते तो दुनिया कितनी बेरंगी हो जाती, न होते सपने सतरंगी नींद काली सफेद रह जाती, सुन्दर…

Read More →
नई सोच – हमारी बेटियाँ

नई सोच – हमारी बेटियाँ

हमारी बेटियाँ एक नए ज़माने में कदम रख रहीं है। रिंकि के दादा-दादी ने कुछ ऐसा ही सोचा।  किशोरदास जी…

Read More →
पुराने ज़माने की प्यारी दादी

पुराने ज़माने की प्यारी दादी

गटूट की दादी उसे जल्दी उठने को कहती थी। जब वह नहीं माना, तो उसकी दादी ने उसे अपने तरीके…

Read More →
बच्चों के लिए नागरिकों के सामाजिक उत्तरदायित्व

बच्चों के लिए नागरिकों के सामाजिक उत्तरदायित्व

एक शैक्षिक लेख जो स्वयंसेवकों के एक गहन समूह के प्रयासों का वर्णन करता है जो प्रकृति की देखभाल के…

Read More →
भालू का राज़

भालू का राज़

कड़ाके की ठंड पड़ रही थी। बिल्लू बंदर गर्म जैकेट, टोपी, मफलर वगैरह पहन कर अपने घर से निकला। फिर…

Read More →
मनमानी

मनमानी

आदित्य बिस्तर पर उल्टा लेटा हुआ सुबक-सुबक कर रो रहा था। तभी दादा जी शाम की सैर करने अपने कमरे…

Read More →
झूठ बोले कौवा काटे

झूठ बोले कौवा काटे

प्रांजल की झूठ बोलने की आदत को सब जानते थे। उसके दोस्त भी और मम्मी पापा भी। सब उसे समझाते…

Read More →
आँखों को उपहार

आँखों को उपहार

आज अचानक आँखों को अपनी परोपकारी प्रवृत्ति की याद आ गई और वे पहले तो उन्माद से भर गई कि…

Read More →
दोस्ती

दोस्ती

‘सुखमय कॉलोनी’ एक सुन्दर एवं हरी भरी कॉलोनी थी। इसकी विशेषता यह थी कि इसमें बहुत सारे मोर रहते थे।…

Read More →
पक्षियों का निराला संसार

पक्षियों का निराला संसार

“आज मेरे मामा जी आ रहे हैं!” खुशी से चहकते हुए मनीष ने राहुल को बताया। राहुल उसका पड़ौसी था…

Read More →
रहस्य

रहस्य

“बादाम कहाँ गए, मैंने यहीं पर तो भिगोकर रखे थे! देखो, यहाँ बादाम के छिलके पड़े है”। रागिनी के पूरे…

Read More →
किशन की सूझ-बूझ

किशन की सूझ-बूझ

एक बहुत ग़रीब किसान किशन अपने परिवार के साथ छोटे से गाँव में रहता था। रात-दिन मेहनत करके किसी तरह…

Read More →
रहस्यात्मक भौंक

रहस्यात्मक भौंक

गुंजन ने विद्यालय से घर आ कर बताया। “आज हमें नए शब्द ‘रहस्य’ से परिचित किया। साथ ही दीदी ने कहा…

Read More →
सेमल

सेमल

First published in November 2016 वर्ष के इस समय में दिल्ली के आसपास घूमने और रहने वाले लोगों ने इस…

Read More →
सबक मिला

सबक मिला

First published in September 2017 edition स्कूल से वापस आते हुए संभव बहुत खुश था। उसका मनपसंद टीवी सीरियल जो आना…

Read More →
योग की शक्ति

योग की शक्ति

First published in November 2016 edition आओ हम सब मिलकर करे अभ्यास योग का, इससे जीवन बने स्वस्थ और रोग मिटे…

Read More →
घड़ी

घड़ी

First published in November 2016 edition. “घड़ी–घड़ी मेरा दिल धड़के...क्यों धड़के...” रेडियो पर लता जी की मधुर आवाज गूंज रही…

Read More →
इंद्रधनुष

इंद्रधनुष

First published in December 2016 edition चन्दन नगर का राजा चंद्रवर्मन् बड़ा ही लोकप्रिय राजा था। उसके राज्य में प्रजा…

Read More →
खुशी का उपहार

खुशी का उपहार

First published in January 2017 edition कार्यक्रम में जाने के लिए तैयार होना था और तनीषा बहुत उत्सुक थी अपनी…

Read More →
मच्छर – महान

मच्छर – महान

First published in November 2016 edition. इस बार विद्यालय में प्रथम एवं द्वितीय कक्षा के बच्चों के माता पिता को सूचना…

Read More →
गाय हमारी माता है

गाय हमारी माता है

First published in November 2016 राहुल, अभय और शशांक, तीनों अपने अपने घर से दूर, शांतिनगर में रहकर एक बड़ी…

Read More →
सच्चाई की ताकत

सच्चाई की ताकत

प्रकाश ने अपने आप को सच्चाई से पहचाना और बदलना चाहा।  First published in May 2016 प्रकाश का पढ़ाई में…

Read More →
डाकिया

डाकिया

First published in February 2016 डाकिया आया, डाकिया आया, खाकी कपड़े में साईकिल पर आया, ढेर सारे ख़तों को अपने…

Read More →
अमर रहें

अमर रहें

अस्पताल भी कैसी जगह है! दर्द, पीड़ा, बीमारी से जूझता व्यक्ति यहाँ का रुख करता है। अपार भीड़ और अपने…

Read More →
पाखण्ड पेशा

पाखण्ड पेशा

लालनपुर क़स्बा शहर और गाँव दोनों से बराबर जुड़ा हुआ था। कस्बे के बीच में से लंबा रास्ता निकल रहा…

Read More →
अलबेला फ़ैशन-शो

अलबेला फ़ैशन-शो

चंचलवन में फ़ैशन-शो की तैयारियाँ चल रही थी। सभी अपने कपड़े जग्गू भेड़िए से सिलवाने में लगे थे। बड़की हथिनी…

Read More →
एक अनुपम भविष्य

एक अनुपम भविष्य

कबीर बारहवीं कक्षा में था। उसकी परीक्षाएँ भी ख़त्म होने को आ गयी थी। वह बड़ी दुविधा में था कि…

Read More →
मुझे कवियित्री बनना है

मुझे कवियित्री बनना है

माँ! मुझे कवियित्री बनना है, शब्दों में रस भरना है, रस, अलंकार, छंद से अपनी बातों को सजाना है, सुंदर…

Read More →
असली सॉफ्टवेयर

असली सॉफ्टवेयर

दस साल के आशीष को सारे इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों का बेहद जुनून था। अगर विद्यालय से आकर आराम करना है तो स्मार्ट…

Read More →
जीवनदायी वृक्ष

जीवनदायी वृक्ष

श्रेय बहुत शैतान बच्चा था। पार्क में खेलते सभी बच्चे उससे परेशान रहते थे। पार्क का माली तो कह कह कर…

Read More →
अनोखा सांता क्लौज़

अनोखा सांता क्लौज़

दिसंबर का महिना था। रौनक और उसकी कॉलोनी के सभी बच्चे बड़े उत्साह से क्रिसमस के त्योहार का इंतज़ार कर…

Read More →
विक्कु बने विवेकानंद

विक्कु बने विवेकानंद

गगन और मगन दोनों बड़े अच्छे दोस्त थे। दोनों साथ साथ टहलते हुए विद्यालय जाते थे। रोज नई बातों से…

Read More →
कठपुतलियों का खेल निराला

कठपुतलियों का खेल निराला

शक्ति के पापा कठपुतलियों को नचाने का काम करते थे। उसके घर में यह काम बहुत पुराने समय से चला…

Read More →
किसने मुझे रेड ऑक्साइड पेंट किया

किसने मुझे रेड ऑक्साइड पेंट किया

अपने जीवन के पंद्रह वर्ष तक दल का नेतृत्व करते हुए आज मैं गर्व के साथ एक सम्मानित स्थान पर…

Read More →
हॉकी और भारत में उसका स्वर्णिम इतिहास

हॉकी और भारत में उसका स्वर्णिम इतिहास

इस बात को अधिक समय नहीं हुआ था जब मैं और मेरा बेटे भारत के राष्ट्रीय खेल, जो कि मेरी…

Read More →
सिंहासन बत्तीसी – कहानी पुतली इंद्रसेना की

सिंहासन बत्तीसी – कहानी पुतली इंद्रसेना की

ग्यारहवें दिन प्रात: उठते ही राजा भोज के मन में फिर चमत्कारी सिंहासन पर बैठने की लालसा बलवती हुई। वे…

Read More →
बुज़ुर्गों की टीम

बुज़ुर्गों की टीम

शर्मा परिवार में चाचा-ताऊ पिता सभी के मिला कर तेरह बच्चे थे। परिवार का मुख्य स्थान हस्तिनापुर में था। बड़ी…

Read More →
ऊर्जा प्रयोग

ऊर्जा प्रयोग

रूप लता चौधरी होमिओपेथी चिकित्सक के रूप में बहुत मशहूर थी। होमियोपेथी चिकित्सा का मूल आधार है व्यक्ति की आदत…

Read More →
अनाड़ी खिलाड़ी

अनाड़ी खिलाड़ी

अंकित ने दूर से देखा कि राजन रेसिंग ग्राउंड में बड़ी तेजी से दौड़ रहा था। फिनीश लाइन के पास…

Read More →
नाग देवता

नाग देवता

दशहरे - दिवाली की छुट्टियाँ शुरू होने वाली थी। आरुषि और यश के ताऊजी-ताईजी गाँव से आ रहे थे, उनके…

Read More →
प्राचीन खेल पतंगबाज़ी

प्राचीन खेल पतंगबाज़ी

भारत में लोगों को पतंग का बहुत शौक़ है। हमारे देश के साथ-साथ यह शौक चीन, कोरिया और थाइलैंड सहित…

Read More →
तैराकी प्रतियोगिता

तैराकी प्रतियोगिता

उत्तर भारत में गर्मियों की लम्बी छुट्टियों होती है। जिसमें ज़्यादातर बच्चों को तैराकी सिखाई जाती है। कुछ बेहद शौक…

Read More →
आशीर्वाद

आशीर्वाद

सिमरन की दादी बहुत सफाई पसन्द महिला थीं। उनके कमरे में हर चीज बड़े ही कायदे से रखी होती थी।…

Read More →
ऐसे होते हैं खेल के दिग्गज

ऐसे होते हैं खेल के दिग्गज

ध्यानचंद भारत में हॉकी के जादूगर कहे जाने वाले मेजर ध्यानचंद सिंह, २९ अगस्त, १९०५ को, उत्तर प्रदेश के इलाहबाद…

Read More →
मिट्ठू

मिट्ठू

“भैया मिट्ठू, भैया मिट्ठू!” ज़ोर-ज़ोर से भाई को पुकारती हुई टीना पार्क के उस कॉर्नर पर आयी, जहाँ उसका भाई…

Read More →
चिंटू की साइकिल – अंतरिक्ष की सैर

चिंटू की साइकिल – अंतरिक्ष की सैर

  उद्यान में चिंटू और उसके दोस्त एक टक आसमान पे नज़रें गढ़ाए बैठे थे। भीम ने आह भरते हुए…

Read More →
भाग्यशाली तीन पेड़

भाग्यशाली तीन पेड़

अत्यंत व्यस्त इलाके के एक महत्वपूर्ण स्थान पर, एक व्यस्त उपमार्ग के बीचों बीच स्थित हम हमेशा सोचते रहे कि…

Read More →
चलो खेलें

चलो खेलें

बुआ अपने बेटे वरेण्य के साथ जब गर्मियों की छुट्टी में अमरीका से भारत आया तो अनीशा और उज्ज्वल को…

Read More →
रौफ: कश्मीर जितना आकर्षक एक नृत्य

रौफ: कश्मीर जितना आकर्षक एक नृत्य

सभी छात्र आने वाले ‘वार्षिक दिवस’ पर प्रस्तुत किये जाने वाले विशेष कार्यक्रम के लिए योजना बना रहे थे। शिक्षिका…

Read More →
पसंदीदा वर्कशॉप 

पसंदीदा वर्कशॉप 

गर्मी की छुट्टियाँ शुरू हुई। पाँचवी पास गगन को पहली बार कम्प्यूटर वर्कशॉप में जाने का मौक़ा मिला। आधार ज्ञान…

Read More →
हे भगवान

हे भगवान

माता पिता ने जाने क्या सोचकर रखा था नाम 'अटल', पर अटल ने तो वास्तव में अपना नाम सच कर…

Read More →
गोनू की दीवाली स्वच्छता के साथ

गोनू की दीवाली स्वच्छता के साथ

गोनू दीवाली की तैयारी बहुत ज़ोरों-शोरों से कर रहा था। अभी दीवाली को आने में पूरे दस दिन बाक़ी थे…

Read More →
खिलौने

खिलौने

नन्दिता गाड़ी में पीछे की सीट पर बैठी कुछ सोच रही थीं कि अचानक एक दृश्य ने उनका ध्यान आकर्षित…

Read More →
वागह बौर्डर

वागह बौर्डर

“पापा मुझे बी एस एफ में जाने के लिए क्या करना होगा?” चिंटू ने नाश्ता करते हुए पापा के पास…

Read More →
जादुई जूते – मिशन ४

जादुई जूते – मिशन ४

सावन का महीना प्रारम्भ होते ही चारों ओर बम–भोले का प्रभाव दृष्टिगोचर होने लगता है। कांवड़ियों को उठाने वालों का…

Read More →
कहानी पर उभरा ज्ञान

कहानी पर उभरा ज्ञान

सड़क के किनारे झोपड़पट्टी में बहुत सारे मज़दूर गरीब परिवार रहते थे। सभी बड़े लोग काम काज में लगे रहते…

Read More →
समाधान

समाधान

अच्छे अंकों से उत्तीर्ण होने के बाद रोहित की छटवी कक्षा में उन्नति हो गई थी। वह और उसके साथी…

Read More →
मुहावरे

मुहावरे

नर्सरी में पढ़ने वाले शिवम और उसके बड़े भाई परम को मम्मी होमवर्क करा रही थीं। शिवम बोला, “मैंने तो…

Read More →
मुहर्रम की कहानी

मुहर्रम की कहानी

वीरेन अपनी घर की बॉलकनी में खड़ा था। तभी उसके कानों में लोगों की चीख़ने की आवाज़ आयी। सभी अपने…

Read More →
जादुई जूते – मिशन ५

जादुई जूते – मिशन ५

रतनपुर की हवेली आजकल चर्चा का विषय बनी हुई है। जब से इसके मालिक राजा रतनसेन सपरिवार विदेश गए थे।…

Read More →
कहानी पुतली मधुमालती की

कहानी पुतली मधुमालती की

नौंवे दिन राजा भोज स्नानादि से निवृत होकर पुन: सिंहासन पर आरूढ़ होने की लालसा मन में लेकर दरबार में…

Read More →
राह और बचपन

राह और बचपन

एक राह था मेरा बचपन तब आता था पसंद सबको मेरा नटखटपन जब थी मैं छोटी, सब कहते थे मुझे…

Read More →
जादूगर चंदामामा

जादूगर चंदामामा

कल ईद थी। सभी छत पर चाँद देखने की कोशिश कर रहे थे। पर चाँद को देखते ही नन्ही ग़ज़ल…

Read More →
संस्कार

संस्कार

रॉकी अब बूढ़ा हो चुका था। वह चार वर्ष के नन्हे मोनू के बुलाने पर बस आँखें खोल देता। कभी…

Read More →
अदिति की गिर उद्यान यात्रा

अदिति की गिर उद्यान यात्रा

अदिति अपने मम्मी-पापा के साथ गिर उद्यान देखने गयी। यह उद्यान गुजरात में स्थित एवं शेरों के लिये प्रसिद्ध है।…

Read More →
संतुलित आहार

संतुलित आहार

गोलू खाना खाने का बहुत शौक़ीन था। लेकिन वह फल, दाल, रोटी और सब्ज़ियों को कभी पसंद नही करता था।…

Read More →
रानी

रानी

माथे पर छोटी सी लाल बिंदी, माँग में सिन्दूर भरे, एक सादी सी गुलाबी साड़ी में लिपटी जो लड़की मेरे…

Read More →
सबका साथी

सबका साथी

रोहित बेहद गंभीर छत्र था। उसका सारा समय लिखने–पढ़ने में बीतता था। कंप्यूटर और वीडियो गेम बहुत पसंद थे। वह…

Read More →
धन्यवाद मैम

धन्यवाद मैम

मीनल और राहुल दो जुड़वाँ भाई बहन थे। दोनों में बेहद प्यार था परंतु वे लड़ते भी बहुत थे। मीनल…

Read More →
हर जगह कान

हर जगह कान

नन्ही टीना बगीचे में बैठी गिटार बजा रही थी। वह गाना भी गुनगुना रही थी। अचानक उसने एक धीमी आवाज़…

Read More →
हनुमान जी

हनुमान जी

सलमान मुसलमान, और मुकुंद हिन्दू, दोनों लड़के अच्छे दोस्त थे। दोनों साथ साथ विद्यायल जाते थे। दोनों दूसरी कक्षा में पढ़ते…

Read More →
पेड़ों का अंकन

पेड़ों का अंकन

हमारे जैसे बहुत लोगों की तरह, पेड़ भी देश के विभिन्न नगरों की कॉलोनियों में रहते हैं और उनका भी…

Read More →
त्यौहार ही त्यौहार

त्यौहार ही त्यौहार

आदित्य अपने से चार साल छोटी बहन श्वेता को हिंदी में निबन्ध याद करा रहा था। विषय था ‘भारत के…

Read More →
ठहाका खेल

ठहाका खेल

अनुपमा दीदी के पास छोटे बच्चे पढ़ने आते थे। शाम को दो घंटा पढ़ते थे। पढ़ाई के बाद वो टिफ़िन…

Read More →
अद्भुद मुहावरे

अद्भुद मुहावरे

अंकुर आरम्भ में कई वर्ष विदेश रह कर भारत आया था। किसी भी विद्यालय में हिंदी ज्ञान के बिना पढ़ाई…

Read More →
तिरंगा

तिरंगा

मेरा तिरंगा कितना प्यारा, तीन रंगो से यह भरा हुआ, सबसे ऊपर रंग केसरिया, साहस, शक्ति को यह समझाता, इसके…

Read More →
ऊँची उड़ान

ऊँची उड़ान

एक बार एक राजा शिकार के लिए जंगल गया। वहाँ से लौटने पर उसके एक सिपाही ने दो गरुड़ के…

Read More →
काली माई

काली माई

छम, छम ! छम, छम ! छम, छम ! काली माई आ गई!..... काली माई आ गई !.... एक बच्चे…

Read More →
रक्षाबंधन

रक्षाबंधन

बहुत देर से मैं यहाँ बैठी, देखो कितनी सुंदर राखी लायी, बढ़ी जंचेगी तुम्हारी कलाई, और मीठा भी पसंद का…

Read More →
मयूरा की अलौकिक शक्ति

मयूरा की अलौकिक शक्ति

मयूरा के मम्मी-पापा दोनों अपने काम में व्यस्त रहते थे, इसलिये उसे सब काम अपने आप करना पड़ता था। वह…

Read More →
तर्क का प्रयोग

तर्क का प्रयोग

विहान बड़े मज़ेदार बालक थे। वो ‘तर्क-विद्या' का प्रयोग करने में दिलचस्पी रखते थे। ४ साल के होते ही उन्हें…

Read More →
सत्संग

सत्संग

शहर का व्यस्त इलाका, उसमें स्थित है एक मंदिर, जिसमें आम तौर पर भीड़ नहीं रहती थी, परंतु आजकल बहुत…

Read More →
पानी का कटोरा

पानी का कटोरा

अजय बगीचे में खेल रहा था और अपने खिलौनों के साथ इधर उधर कूद रहा था। वह छाया में जाने…

Read More →
वृक्ष बोले

वृक्ष बोले

पेड़ उस समय से अस्तित्व में हैं जबसे मानव जाति का जन्म हुआ। हालांकि पेड़ अचल हैं, किन्तु वे मानव…

Read More →
सिंहासन बत्तीसी – कहानी पुतली सुकेशी की

सिंहासन बत्तीसी – कहानी पुतली सुकेशी की

सिंहासन पर बैठने को लालायित राजा भोज ने सातवें दिन जैसे ही अपने कदम बढ़ाए, सिंहासन में से सुकेशी नामक…

Read More →
रसीला आम

रसीला आम

पूरी सर्दी बीत गयी, इसका इंतज़ार करते करते, मुँह में पानी आ गया, पेड़ों पर लगे बौर देखकर, हरे-हरे छोटे…

Read More →
जीवन चक्र (भाग-२)

जीवन चक्र (भाग-२)

पिछले अंक में आपने पढ़ा था – राजा साँगवान के साथ हुई अजीबो-गरीब घटना को बीते करीब बीस साल हो…

Read More →
महान चोर – चूहा

महान चोर – चूहा

सैरा ने नानी से पूछा, “हमें हर जानवर कुछ ना कुछ सिखाता है। लेकिन चूहा बस चोरी करना सिखाता है।…

Read More →
बाँटना सीखें

बाँटना सीखें

यह कहानी है इटली के वेनिस शहर की। वहाँ के एक कॉफी शॉप में एक दिन एक दूसरे शहर से…

Read More →
गाजर – एक श्रेष्ठ आहार

गाजर – एक श्रेष्ठ आहार

स्वस्थ, चुस्त और दुरुस्त रहने का चलन पूरे विश्व में तेज़ी पकड़ रहा है। सेहतमंद खाने पर जो शोध हुए…

Read More →
सच करने हैं सपने

सच करने हैं सपने

अंजलि अपने घर में सबकी प्यारी थी। होती भी क्यों न। एक तो अपने चाचा-ताऊ के घरों को भी मिलाकर…

Read More →
लिखने की कला

लिखने की कला

गीतिका के विद्यालय में, अभिभावक - अध्यापिका की बैठक थी। बच्चों की शैतानियों, कलाकारियों, सभी पर चर्चा चल रही थी।…

Read More →
भिन्नता का समायोजन

भिन्नता का समायोजन

स्कूल में लंच ब्रेक हो गया था और नंदिनी की कक्षा के सभी छात्र अपना भोजन खा रहे थे। “तुम…

Read More →
कार्टून

कार्टून

टी वी मन्नू को खूब है भाता कार्टून देखकर मन बहलाता हरदम कार्टून चैनल टीवी पर हाथों में चिप्स और…

Read More →
ख़जाना – पौधों का रहस्य

ख़जाना – पौधों का रहस्य

नैनीताल के पास एक बहुत ही सुरम्य स्थान है, कैंची। पहाड़ों के सुंदर वातावरण से पूरित ये स्थान बहुत ही…

Read More →
कथकली

कथकली

सुनयना अपने ग्रीष्म अवकाश में अपनी मामी के यहाँ गयी थी। वह और उसकी ममेरी बहन अपर्णा एक दूसरे के…

Read More →
सिंहासन बत्तीसी – कहानी पुतली राविभामा की

सिंहासन बत्तीसी – कहानी पुतली राविभामा की

प्रातः काल होते ही राजा भोज के मन में देवताओं के सिंहासन पर बैठने की इच्छा और भी प्रबल हुई।…

Read More →
असली सांता क्लॉस

असली सांता क्लॉस

२५ दिसम्बर के साथ जाड़ो की छुट्टियां होती है। छुट्टियों से पहले बच्चों का एक मनोरंजक कार्यक्रम होता है। इस बार…

Read More →
नया घर

नया घर

नन्ही परी के पापा का ट्रान्सफर होने वाला था। अभी तक वे लोग जहाँ रहते थे, वह शहर के बीच…

Read More →
खुशी विज्ञान

खुशी विज्ञान

वर्तमान समय में हर शहर में बहुत सारे संगठन होते हैं  -  पुरुष संगठन के साथ साथ, महिला-पुरुष संगठन जैसे…

Read More →
ईद का जश्न

ईद का जश्न

इस बार फिर से ईद आयेगी, ख़ुशियाँ ही ख़ुशियाँ छायेगी, मेल-मिलन होगा जमकर, चेहरे खिल-खिल जायेंगे, मीठी सिवाईयाँ खाने का…

Read More →
सुहाने सपने

सुहाने सपने

रात के नौ बजे थे। छटी कक्षा का राघव आने वाली परीक्षा की तैयारी कर रहा था। तभी कमरे में…

Read More →
गुरु छोटा, चेला बड़ा

गुरु छोटा, चेला बड़ा

कमल के घर एक नया नौकर रखा गया - मनोज। बेहद चुस्त और विभिन्न कार्यों का हुनरकार। छुट्टी वाले दिन…

Read More →
समुद्र की दुनिया

समुद्र की दुनिया

आओ दिखाये तुम्हें समुद्र की दुनिया, जहाँ शांत हर तरफ है फैला हुआ, इसकी लहरें आगे आगे चलती जाती, कभी…

Read More →
मेरा भारत महान

मेरा भारत महान

रूद्र हमेशा इसी बात पर अड़ा रहता था कि बड़ा होकर वह विदेश चला जाएगा और फिर वहीं बस जाएगा।…

Read More →
उचित समय

उचित समय

ज्योति कोहिमा, नागालैंड में रहती है। उसे अपनी सबसे अच्छी मित्र मुक्ता की बहुत याद आ रही थी। कुछ दिन…

Read More →
महात्मा बुद्ध

महात्मा बुद्ध

मनाये जन्मदिन गौतम बुद्ध का, शुद्धोधन और मायादेवी जिनके माता पिता, लुम्बिनी, नेपाल में जन्म लिया, ज्ञान का प्रसार आपने…

Read More →
जादुई जूते (मिशन ३)

जादुई जूते (मिशन ३)

वैंकू को चित्तौड़ की भूमि हमेशा आकर्षित करती थी। कभी राणा प्रताप के शौर्य और वीरता के किस्से, तो कभी…

Read More →
अच्छा इन्सान

अच्छा इन्सान

एक ६ साल का लड़का शुभम, अपनी ४ साल की छोटी बहन लीनी के साथ बाजार से गुजर रहा था।…

Read More →
उलट – पुलट

उलट – पुलट

“सुबह से खेल रहे हो! और कितना खेलोगे नीरज? थोड़ा सा कुछ पढ़ भी लो”। माँ ने नीरज से कहा,…

Read More →
यज्ञसेन

यज्ञसेन

सुंदर गढ़ का राजा वीरसेन बहुत दयालु और न्याय प्रिय था। उसकी तीन रानियाँ थीं - चंद्र प्रभा, कांता और…

Read More →
छुपी सच्चाई

छुपी सच्चाई

अंजलि की इकलौती बेटी सोनल थी। माँ-बेटी होने के साथ-साथ अच्छी सहेलियाँ भी थी। सोनल अब विवाह योग्य हो गई…

Read More →
परिवर्तन

परिवर्तन

मीना जबसे अपने विद्यालय में कप्तान बनी थी तबसे उसे लगता था कि उसकी सहेलियाँ उससे कुछ ठीक से बात-…

Read More →
नशे के सौदागर (भाग-२)

नशे के सौदागर (भाग-२)

पिछले अंक में आप ने पढ़ा था कि शहर में नशे की बढ़ती घटनाओं की वजह से नारकोटिक्स विभाग बहुत…

Read More →
गुरुद्वेव रवीन्द्रनाथ टैगोर

गुरुद्वेव रवीन्द्रनाथ टैगोर

रवीन्द्रनाथ टैगोर का जन्म ७ मई १८६१ में कोलकता में हुआ था। इनकी माँ का नाम शारदा देवी और पिता…

Read More →
रैफलिशिया – विश्व का सबसे बड़ा फूल

रैफलिशिया – विश्व का सबसे बड़ा फूल

“बच्चों! बताओ अब तक तुमने सबसे बड़ा फूल कौन सा देखा है?” अंकल जॉन ने पूछा, एक दिन जब वह…

Read More →
परवाह किसे है?

परवाह किसे है?

हम पेड़, अपनी संबन्धित श्रेणियों - छोटे, मँझले और बड़े की बढ़त को लेकर बहुत ही संवेदनशील हैं और सुंदरता…

Read More →
सिंहासन बत्तीसी – कहानी पुतली कामकंदला की

सिंहासन बत्तीसी – कहानी पुतली कामकंदला की

चौथे दिन राजा भोज आसन पर बैठने ही वाले थे कि पुतली कामकंदला प्रकट हुई और उनके सामने खड़े होकर…

Read More →
पिताजी का विश्वास

पिताजी का विश्वास

रघु पाँचवी कक्षा का छात्र था। वह पढ़ने में तो अच्छा था ही साथ ही साथ खेल कूद में भी…

Read More →
मुझे जाना है स्कूल

मुझे जाना है स्कूल

तीन साल का सोनू सुंदर, गोल-मटोल, सब का दिल बहलाता थे प्यारे उसके बोल एक दिन वो रूठ कर ज़मीन…

Read More →
भुवन की समझदारी

भुवन की समझदारी

यह कहानी प्रेमचंद कि ‘ईदगाह’ पर आधारित है। भुवन एक छोटे से गाँव मे रहता था। वह अपनी माँ के…

Read More →
पक्षी की व्यथा

पक्षी की व्यथा

हम पक्षी उड़ने वाले हवा में, हमको उड़ने दो, पिंजरों में बंद करके, हमें अपनो से मत दूर करो। सोने…

Read More →
इंतजार का सबक

इंतजार का सबक

मीरा अपने बड़े भैया राजेश को बहुत प्यार करती थी और उनका कहना भी मानती थी। लेकिन उसे राजेश भैया…

Read More →
सेव का पेड़

सेव का पेड़

कबीर अपने मम्मी पापा के साथ शिमला में रहता था। उसके घर के बगीचे में एक बहुत बड़ा सेव का…

Read More →
शुभ-कामना

शुभ-कामना

अमन विद्यालय से आ कर टी.वी. देखने बैठ जाता - कार्टून, बच्चों के सीरियल, वगैरह। अगर कुछ भी खाना होता…

Read More →
गलती

गलती

छह साल का आयुष बड़ा प्यारा, किन्तु बहुत शरारती बच्चा था। एक बार उसके पापा के ऑफिस के कुछ लोग…

Read More →
आभा की चिंता

आभा की चिंता

आभा को तसवीरें खींचने का बहुत ही शौक था। वह कहीं भी जाती अपना कैमरा निकालकर तसवीरें लेने लग जाती।…

Read More →
होली का हल्ला

होली का हल्ला

होली का हल्ला गुल्ला, मचा हर गली मुहल्ला, मचला हुआ है बच्चा बच्चा, हर कोई इसके रंग में डूबा, रंगबिरंगी…

Read More →
भगवान की भूमिका

भगवान की भूमिका

पार्क में किनारे गोल घेरे में चौड़ी पट्टी टहलने के लिए बनी थी। उसी के साथ किनारे फूल पौधे और…

Read More →
ज्ञानी गुरु

ज्ञानी गुरु

प्राचीन काल में एक गुरुकुल में एक ज्ञानी गुरु रहते थे। एक दिन एक महान पंडित उनसे मिलने आये थे।…

Read More →
पढ़ाई

पढ़ाई

मिनी और मनु पापा के पास लेटे थे और उनसे कहानी सुनाने का आग्रह कर रहे थे। बच्चों को कहानी…

Read More →
चिरौ – मिज़ोरम का बैम्बू नृत्य

चिरौ – मिज़ोरम का बैम्बू नृत्य

जब मैं पहली या दूसरी कक्षा में थी, मैंने स्कूल में अपनी वरिष्ठ छात्राओं को बाँस की डंडियों से एक…

Read More →
बड़ा ओहदा

बड़ा ओहदा

जाड़े की छुट्टियाँ शुरू हुई। आठ साल की जूही को घूमने जाना था। किसी कारण से कार्यक्रम रद्द हो गया। अब…

Read More →
क्रांति बनाम आतंकवाद

क्रांति बनाम आतंकवाद

आज विद्यालय में वाद-विवाद प्रतियोगिता का आयोजन किया गया था। नवीं से बारहवीं कक्षा के बच्चे इसमें भाग लेने वाले…

Read More →
पेड़ – पृथ्वी के फेफड़े

पेड़ – पृथ्वी के फेफड़े

वृक्ष क्यूँ महत्वपूर्ण हैं? वृक्ष हमारे पर्यावरण के लिए बहुत महत्वपूर्ण हैं। ये निश्चित ही पृथ्वी के फेफड़े हैं। वृक्ष…

Read More →
वसंत पंचमी

वसंत पंचमी

हमारे देश में वसंत पंचमी का उत्सव बड़े ही हर्ष और उल्लास के साथ माघ मास (फरवरी) के शुक्ल पक्ष…

Read More →
खाने की बरबादी

खाने की बरबादी

शशांक की मम्मी ने देखा कि डस्टबिन में आधा पराँठा पड़ा हुआ है। वह समझ गयीं कि यह शशांक का…

Read More →
तन्मय का रहस्य

तन्मय का रहस्य

“हैलो, तन्मय?” राजन ने फोन मिलाकर कहा। “हाँ, तन्मय बोल रहा हूँ। कौन बोल रहा है?” “मैं, राजन! आज क्या…

Read More →
दाँतों की दुनिया (भाग-२)

दाँतों की दुनिया (भाग-२)

अब तक आपने पढ़ा था कि दंतमूषक जी चुनमुन को दाँतो की अनोखी दुनिया के बारे में बता रहे थे…

Read More →
ईश्वर एक है

ईश्वर एक है

नन्ही सिया होमवर्क कर रही थी। होमवर्क में वह बोल-बोल कर सुलेख लिख रही थी, "ईश्वर एक है।" पाँचवी कक्षा…

Read More →
पेड़ बनने का चमत्कार

पेड़ बनने का चमत्कार

छोटे बाबू को गिलहरी और चिड़ियाँ सबसे प्यारे लगते थे। सुबह उठ कर वो सबसे पहले आँगन में जाता और…

Read More →
अंधविश्वास

अंधविश्वास

यह कहानी है एक 9वीं कक्षा में पढ़ने वाली लड़की तान्या की। तान्या पढ़ने में अच्छी थी, इसलिए उसके शिक्षक…

Read More →
सोने के सिक्के

सोने के सिक्के

एक राजा ने अपने प्रजा की परीक्षा लेने के लिए एक बड़ा सा पत्थर सड़क के बीच मे रखा। फिर…

Read More →
सहारा

सहारा

मैना पति की मृत्यु के बाद बिल्कुल अकेली हो गई थी। काफी भाग–दौड़ के बाद उसे पति के ऑफिस में…

Read More →
परेशानी का अंत

परेशानी का अंत

फ़रवरी का महीना था, चारों तरफ पीले-पीले फूल और वातावरण में ख़ुशनुमा माहौल था। ऐसा लग रहा था कि धरती…

Read More →
बसंत पंचमी

बसंत पंचमी

 आओ मनाये बसंत पंचमी, करे पूजा सरस्वती माँ की, विद्या का वर देने वाली, हमारे गुणों को बढ़ाने वाली, श्वेत…

Read More →
सीख

सीख

प्रिया घर में घुसते ही स्कूल बैग एक तरफ रखकर सोफे पर बैठ गई। उसकी आँखों के सामने वही घटना…

Read More →
जलवायु परिवर्तन

जलवायु परिवर्तन

जलवायु क्या है? मौसम की अपेक्षा बड़े क्षेत्र और अधिक लंबे समय की स्थितियाँ जैसे तापमान, वर्षा होना, हवा चलने,…

Read More →
फ़र फ़र फ़रवरी आया

फ़र फ़र फ़रवरी आया

रोको रोको इसको रोको, यह तो उड़ता जाये, गरमी को न्योता दे कर सर्दी खूब भगाये, इधर उधर बस पीले…

Read More →
इंद्रधनुषी आहार

इंद्रधनुषी आहार

हमारी प्रकृति रंगों से भरी है। प्रत्येक रंग का अर्थ है और जीवन में उसका बहुत महत्व है। रंगों के…

Read More →
सूखा पेड़

सूखा पेड़

मेरे लिए जीवन दस वर्ष से भी ज़्यादा पत्ते रहित रहा है। ऐसा नहीं है कि पत्ते मुझपर कभी रहे…

Read More →
दिल्ली की २६ जनवरी परेड

दिल्ली की २६ जनवरी परेड

नकुल का दोस्त साहिल उससे पूछता है, “कल तुम २६ जनवरी को स्कूल क्यों नही आये थे"? फिर नकुल उसे…

Read More →
ज्ञानी तम्बोला

ज्ञानी तम्बोला

माँ डायरी में सोच सोच कर कुछ लिख रही थी। बेटी ने पूछा “माँ, क्या लिख रही हो? क्या कोई…

Read More →
डेज़ी मैम

डेज़ी मैम

क्लास एक में पढ़ती अपनी प्यारी डेज़ी रानी, चार साल के छोटे भाई पर करती ख़ूब मनमानी भाई को बना…

Read More →
छोटी किन्तु महत्वपूर्ण

छोटी किन्तु महत्वपूर्ण

चिंकी और मिन्की दो जुड़वा बहने थी। दोनो खेल कूद कर साथ साथ बड़ी हुई। दादा-दादी की बड़ी दुलारी बेटियां थी।…

Read More →
साथियों का हाथी

साथियों का हाथी

सोनू , मोनू और टोनू एक गाँव में रहने वाले तीन दोस्त थे। इन में से सोनू सब से बड़ा…

Read More →
भंडारा

भंडारा

घंटाघर का यह इलाका शहर के बीच होने पर भी थोड़ा कम व्यस्त इलाकों में गिना जाता था। पर आज…

Read More →
दाँतों की दुनिया (भाग – 1)

दाँतों की दुनिया (भाग – 1)

बेटे चुनमुन, चलो सोने से पहले दाँतों को अच्छी तरह से साफ कर-के कुल्ला कर लो, माँ ने कहा। "माँ,…

Read More →
सही समस्या

सही समस्या

आप सबने ये चुटकुला तो सुना ही होगा... एक दिन, एक बस में एक पहलवान चढ़े। जब कंडक्टर ने उन्हें…

Read More →
चित्रकार

चित्रकार

मेहुल को पेंटिंग करने का बहुत शौक था। वह स्कूल से आता, गृह कार्य निपटता और रंग–तूलिका लेकर बैठ जाता।…

Read More →
पाखंडी पंडित को सबक

पाखंडी पंडित को सबक

प्रदीप, उसकी पत्नी बीना और बेटी मनु एक साथ रहते थे। प्रदीप पूजा पाठी था लेकिन बहुत डरपोक था। उसका…

Read More →
लुप्त होती मधुमक्खियाँ

लुप्त होती मधुमक्खियाँ

मधुमक्खियाँ क्या हैं और क्यों महत्वपूर्ण हैं? मधुमक्खियाँ उड़ने वाली कीट हैं जो शहद बनाने के लिए जानी जाती हैं।…

Read More →
उत्कृष्ट दान

उत्कृष्ट दान

सुधा देवी की उम्र के साथ-साथ उनकी परेशानियाँ भी बढ़ती जा रही थीं। यूँ तो वे सिर्फ पैसे से ही…

Read More →
विजय दिवस

विजय दिवस

विजय दिवस को मेरा प्रणाम, आपके सामने लाया हूँ पैग़ाम, कहना तो बहुत कुछ चाहता हूँ, पर वीरों की यादों…

Read More →
माइकिल की साइकिल

माइकिल की साइकिल

माइकिल आठ साल का बच्चा है। उसके घर के सामने एक परिवार आया, जिसमें उसके बराबर का एक लड़का था।…

Read More →
मिट्ठू आया मिट्ठू आया

मिट्ठू आया मिट्ठू आया

मिट्ठू आया मिट्ठू आया  देख दाना वो मुस्काया  पीछे पीछे मिट्ठन आयी  दोनों ने फिर खूब खाया  अपने साथियों को…

Read More →
जादुई बोतल

जादुई बोतल

समुद्र के किनारे कुछ बच्चे खेल रहे थे। सुनहरी बालू धूप में चमक रही थी। बच्चे इधर–उधर बालू के घरोंदे…

Read More →
लाडली मिकी

लाडली मिकी

दीपू एक ७ साल का लड़का था। उसके पास एक ५ महीने की बिल्ली थी, जिसका नाम दीपू ने मिकी…

Read More →
खजाने की खोज

खजाने की खोज

अनंमए परेशान से बैठे थे। उसकी मनपसंद सतरंगी गेंद खो गई थी। नानी ने समझाया था, “हमेशा चीज़ को इस्तेमाल…

Read More →
एकजुटता

एकजुटता

संजय, दिशा, रोहित और अनन्या बड़े उत्साहित थे। वे दिल्ली की सनलाइट कॉलोनी में रहते थे और प्रत्येक वर्ष की…

Read More →
मशीनी पकवान

मशीनी पकवान

निहाल और नाम्या स्कूल से घर लौट रहे थे। बस स्टॉप पर आइसक्रीम वाले को देखकर नाम्या का मन ललचा…

Read More →
मेरठ के पन्ने

मेरठ के पन्ने

हिरण्मई और भानुप्रिया अब मेरठ में थे। छुट्टियों का पहला भाग उन्होनें अपने नाना-नानी के घर में बिताया था। उसके…

Read More →
सीखें वर्णमाला

सीखें वर्णमाला

अ आ इ ई              बोले मिक्की उ ऊ ए ऐ        …

Read More →
वास्तविक गरिमा

वास्तविक गरिमा

बाकुली गाँव पुरानी परम्परा का गाँव था। जहाँ लड़के खेती का काम करते थे और लड़कियां भी सहयोग देती थीं।…

Read More →
हीरा पुत्र

हीरा पुत्र

एक पति-पत्नी बहुत साल शादी के बाद भी माता-पिता नहीं बन सके। दोनों को ही बच्चे बहुत प्यारे लगते थे।…

Read More →
मोरनी संग आया मोर

मोरनी संग आया मोर

उगा सूरज हुयी भोर मोरनी संग आया मोर साथ में बच्चे कितने अच्छे इधर उधर ना भागें आसपास ही घूमें…

Read More →
कत्थक

कत्थक

यह सुनयना की पहली नृत्य की कक्षा थी। वह उस कक्षा को आरंभ करने के लिए अत्यधिक उत्साहित थी जिसकी…

Read More →
वेद- विज्ञान

वेद- विज्ञान

अनन्मय अब दस साल का हो रहा है। अब उनके दोस्तों की तरफ से जन्मदिन की पार्टी के लिए न्योते आते हैं तो…

Read More →
सही तरीका

सही तरीका

कहानी के विषय में - अकसर बच्चों को सही बात समझाना, करवाना बड़ा मुश्किल होता है। उन्हें छोटी-छोटी बातों के…

Read More →
गुलाबी परी

गुलाबी परी

“माँ! आज रात मुझे कहानी सुनाओगी न!” ख़ुशी को रात को सोने से पहले कहानी सुनने का बहुत शौक है।…

Read More →
समझदार रिया

समझदार रिया

रिया एक ७ साल की छोटी लड़की थी। वह सबकी बहुत लाडली थी। मम्मी की तो वह कुछ ज्यादा ही…

Read More →
दादी माँ का बचपन (भाग-2)

दादी माँ का बचपन (भाग-2)

दादी माँ सम्पदा को अपने बचपन की कहानी सुना रहीं थीं, जब वे बचपन में अपनी नानी के घर जातीं…

Read More →