अद्भुत पक्षी जगत

अद्भुत पक्षी जगत

  • March 1, 2019

नैतिक की कक्षा में पक्षी जगत की फिल्म दिखाई गयी। उसे पक्षियों के बारे में बहुत मज़ेदार बातें पता चली। “माँ आज स्कूल की तरफ से चिड़ियों पर एक पिक्चर दिखाई गई थी। यह प्रसिद्ध पक्षी पर्यवेक्षक की डॉक्यूमेंट्री थी”,…

Read more
Friends Always Understand

Friends always understand

  • March 1, 2019

Mummy sparrow teaches young Chidiya sparrow why friends always understand. Chidiya Sparrow came home from her Flying School terribly upset. She sat in the corner of her nest and closed her eyes. “I don’t want my milk,” she told Mummy…

Read more
Gullu Goes Shopping

Gullu goes shopping

The new academic year is about to begin and Neel is going to the next class. Mom and Neel are so busy shopping. They have to buy new books, new uniforms, a school bag, a bottle, and a tiffin box.…

Read more
Baba Pasha – The Preaching Dog

Baba Pasha – the preaching dog

  • February 1, 2019

Pasha my energetic Labrador gets into the wrong company. Read the story of how I deal with his incessant preaching. Sometimes I wonder if dogs can read the time. Unless, they have an in-built clock in their system that we…

Read more
Birthday Blues

Birthday blues

  • February 1, 2019

Penny was having an extremely wonderful day, as it was her birthday. She was 2 years old and everyone at home had pampered her, fed her cake and given her a big, juicy bone as a gift! She had that…

Read more
पशु और हम

पशु और हम

  • February 1, 2019

पशु और हम एक साथ रह सकते हैं। रेंजर श्री रणवीर सिंह राव बच्चों को बताते हैं कि यह कैसे किया जा सकता है। वन विभाग के रेंजर रेंक के एक अफसर थे, श्री रणवीर सिंह राव। वह बड़े ही…

Read more
तितली-रानी

तितली-रानी

  • February 1, 2019

सुंदर-सुंदर फूलों पर बैठी तितली, तभी चमक उठी बादल में बिजली, डर के इधर-उधर देख मचली, और वह पंख फैलाकर उड़ चली, तभी कुछ बारिश की बूँदें गिर पड़ी, तितली के पंख हो गये गीले-गीले, थोडी सी ठंड उसको थी…

Read more
प्यारा दोस्त कुत्ता

प्यारा दोस्त कुत्ता

  • February 1, 2019

रामू को चाहिए था एक प्यारा दोस्त, जो उसके साथ खेले। रामू  सात साल का बच्चा था। उसके घर परिवार में सब बड़े लोग थे। रामू को साथ में खेलने के लिए कोई मिलता ही नहीं था। दादा-दादी, ताऊ-ताई सब…

Read more
Loading...