Dealing With Culture Shock

Dealing with culture shock

  • August 1, 2018

An exchange student describes her experience of dealing with culture shock. Since I have been an exchange student, I get asked a lot of questions about my experiences and my thoughts in general. Most students are sceptical about going for…

Read more
ताड़पत्र पर हमारा भाग्य

ताड़पत्र पर हमारा भाग्य

  • August 1, 2018

एक ज्योतिषी ने हमें ताड़पत्र पर से हमारा भाग्य बताने की कोशिश करी।  ज्योतिष विद्या एक अनोखी विद्या है, यह तो सही है। किन्तु पैसा ऐंठने की असंख्य घटनाओं के कारण हमने कभी इन बातों को एहमियत नहीं दी। लेकिन…

Read more
पीसा की मीनार

पीसा की मीनार

  • August 1, 2018

प्रियांश को पिसा की मीनार देखने का बहुत मन था। पर उसके पापा ने उसे पहले भारत की अद्भुत चीज़ें दिखाना चाहा। “मम्मी मुझे भी इटली जाना है”, प्रियांश जब से स्कूल से आया था, उसने यही रट लगा रखी…

Read more
Mishka’s Travel To China

Mishka’s Travel to China

  • August 1, 2018

Mishka’s travel to China teaches her about a new culture. Mishka Mouse, who lived a peaceful and lazy life in a tiny village in Kerala, India, had just arrived in Beijing, China to meet her friend Mei-Li. “Hi Mei-Li, I…

Read more
A New Environment

A new environment

  • August 1, 2018

Mala writes to her friend from the UK about settling into her new environment. My Dear Seema, I am so sorry for not writing earlier but it has been a busy two months settling in. How are you? I miss…

Read more
सख्त संस्कारी जवाब

सख्त संस्कारी जवाब

  • August 1, 2018

महिला आर्य समाज के कार्यक्रम में बुजुर्ग महिलाओं ने बाकी लोगों को वास्तविक संस्कारी जवाब देकर उनकी आँखें खोल दीं। महिला आर्य समाज जनकपुरी में साल में एक बार विशेष कार्यक्रम का आयोजन किया जाता था। किसी बड़े आश्रम से…

Read more
Grandparent’s Love

Grandparent’s love

  • August 1, 2018

Mihika realized that grandparent’s love is more important than how modern they were. It was a warm sunny morning. Mihika’s parents told her that her grandparents were coming to visit her. Mihika’s grandparents lived far away in a small town.…

Read more
तुम सुखी हिन्दू हो? या परेशान बिंदू हो?

तुम सुखी हिन्दू हो? या परेशान बिंदू हो?

  • August 1, 2018

ये लेख हमें सोचने को मजबूर करता है कि सुखी हिन्दू का क्या तात्पर्य है।  डी.इस.सीनियर इंटरनेशनल सेकण्डरी स्कूल मोदीपुरम में खुला था। विशेषता के तौर पर अच्छे स्तर पर चल रहा था। विशेषता थी - भारत देश के विद्यार्थी…

Read more
Loading...