दोस्त दीपावली

दोस्त दीपावली

  • March 1, 2016

अन्नी सात साल का समझदार बच्चा हो गया है।  उसने अपनी मित्र मंडली से चर्चा की - क्यों ना हम इस बार दीपावली को विशेष तरीके से मनायें?  “विशेष तरीके से? कैसे?”, सभी मित्रों ने एक साथ पूछा।  तनवीर बोला,…

Read more
दिवाली की धूम

दिवाली की धूम

  • March 1, 2016

जगमग दिवाली आयी रे आयी, पटाखों का धूम धड़ाका लायी, चारों तरफ़ उजाला लेकर आयी, हम सभी में ख़ुशियों को लायी। मिठाइयों की सौगात साथ लायी, नये नये कपड़ों की बहार लायी, साथ में मस्ती ही मस्ती लायी, दिवाली आयी…

Read more
मिट्टी का दीया

मिट्टी का दीया

  • February 1, 2016

मिट्टी का दीया हूँ, तो फिर क्या हुआ? रोशनी को तो मैंने भी सभी को दिया, बदलते वक़्त की बदलती तक़दीर हूँ मैं, तभी तो शब्दों में बिखर रहा हूँ यहाँ। मोमबत्ती और लड़ियों से कभी रहा न द्वेश मेरा,…

Read more
Loading...