ईद का जश्न

ईद का जश्न

  • June 1, 2017

इस बार फिर से ईद आयेगी, ख़ुशियाँ ही ख़ुशियाँ छायेगी, मेल-मिलन होगा जमकर, चेहरे खिल-खिल जायेंगे, मीठी सिवाईयाँ खाने का मौक़ा एक बार और मिल जायेगा, रमज़ान महीने के बाद जब वह चाँद निकलकर आयेगा, हर तरफ भाई-चारे का नज़ारा…

Read more
Signs

Signs

  • June 1, 2017

A crow croaked, and so did my granny An omen, she shouted aloud You should be careful little manny Confused I looked at her clowned How could a crow bring trouble? Bravely I took a decision I will not live…

Read more
Summer

Summer

  • June 1, 2017

The summer sun is high in the sky, It is time for us to watch the bees and butterfly fly Let us go to the park and run, Swim in the pools and have some real fun But be wary…

Read more
समुद्र की दुनिया

समुद्र की दुनिया

  • June 1, 2017

आओ दिखाये तुम्हें समुद्र की दुनिया, जहाँ शांत हर तरफ है फैला हुआ, इसकी लहरें आगे आगे चलती जाती, कभी न थकती और न ही थमती, तरह तरह के जीव-जन्तु सब रहते, समुद्री पौधे भी देखने को यहाँ मिलते, मछली,…

Read more
महात्मा बुद्ध

महात्मा बुद्ध

  • May 1, 2017

मनाये जन्मदिन गौतम बुद्ध का, शुद्धोधन और मायादेवी जिनके माता पिता, लुम्बिनी, नेपाल में जन्म लिया, ज्ञान का प्रसार आपने किया। गीत गायें इस बुद्ध पूर्णिमा पर महात्मा बुद्ध को हमारा नमन, सारनाथ में दिया उपदेश पहला, सुखसुविधा त्याग, बनाया…

Read more
My Sister’s Wedding

My sister’s wedding

  • May 1, 2017

My elder sister is getting married! The excitement alone in the air is relishing. Music, laughter, the continuous chatter of aunties, mehndi, ornaments, new attires, Ah! And the aroma of my mom’s ladoos. Once silent corridors are now stuffed with…

Read more
नन्ही गुड़िया

नन्ही गुड़िया

  • May 1, 2017

नन्ही सी एक गुड़िया रानी कल तक गोद लिए थीं नानी सुनती थी नित नयी कहानी हो गयी है अब बहुत सयानी पढ़-लिखकर बन गयी है ज्ञानी उसे याद हर बात जबानी करके छोड़े जो मन में ठानी न जानो…

Read more
The Little Blue Bird

The little blue bird

  • May 1, 2017

One day I saw a little blue bird, Flying anxiously from here to there. She was hungry and looking for some food, So, I thought of giving her some rice and doing some good. She happily took the grains for…

Read more
मुझे जाना है स्कूल

मुझे जाना है स्कूल

  • April 1, 2017

तीन साल का सोनू सुंदर, गोल-मटोल, सब का दिल बहलाता थे प्यारे उसके बोल एक दिन वो रूठ कर ज़मीन पे गया पड़, दीदी के साथ स्कूल जाने को गया वो अड़ दीदी की तरह ड्रैस सिला दो और दिला…

Read more
पक्षी की व्यथा

पक्षी की व्यथा

  • April 1, 2017

हम पक्षी उड़ने वाले हवा में, हमको उड़ने दो, पिंजरों में बंद करके, हमें अपनो से मत दूर करो। सोने के पिंजरे से अच्छी लगती आज़ादी अपनी, नहीं चाहिये मेवा, सेवा, चुगने दो दाना अपना। बारिश, सर्दी या हो गरमी,…

Read more
Loading...