जीत-हार

जीत-हार

  • March 1, 2019

आओ हम सब कोई खेल खेले, जिसमें कुछ हारेंगे और कुछ जीतेंगे। ज़ोरदार जीत का जश्न मनाना, लेकिन हार पर डर कर रूक मत जाना। हिम्मत के साथ इसको अपनाना, और अगली बार कुछ नया दिखाना। अपने आप को जीत…

Read more
Being Alone

Being alone

  • March 1, 2019

Once proud white walls, of now what looks like a beaten and broken house, With cracks forming discrete images, as if portraying the story of its struggle. The shades of tiles darkened with bouts of dust gathered through time. The…

Read more
आलोचनायें

आलोचनायें

  • March 1, 2019

कभी आलोचनायें भी कर देती है कमाल, जब किसी की कही हुयी चुभ जाती बात, और ये चुनौती लेते हम सब समझकर, तब हो जाता है हमारे जीवन में सुधार, हमारी प्रतिभा निकल कर आती बाहर, कुछ करने की ललक…

Read more
Never Give Up, Little Fellas

Never give up, little fellas

  • March 1, 2019

Little fellas, do not give up ever. Just keep trying forever, No matter how dark is the sky and how heavy is the rain, Soon the sun comes out and the weather is cheerful all over again, Do not let…

Read more
Exams

Exams

  • February 1, 2019

Exams are on my way! Syllabus divided, Study schedule prepared, I will study from today! But the show on TV won't repeat again, I will study from tomorrow Exams are still a month away! Two weeks collapsed, Without a fruitful outcome…

Read more
तितली-रानी

तितली-रानी

  • February 1, 2019

सुंदर-सुंदर फूलों पर बैठी तितली, तभी चमक उठी बादल में बिजली, डर के इधर-उधर देख मचली, और वह पंख फैलाकर उड़ चली, तभी कुछ बारिश की बूँदें गिर पड़ी, तितली के पंख हो गये गीले-गीले, थोडी सी ठंड उसको थी…

Read more
Magic

Magic

  • February 1, 2019

I am Magic! Oh trust me, I am. I have the power of sight! I see the beautiful world, The clouds , the mountains, the rivers, the dewdrops on flowers. What I fail to see is the smoke, the dirt,…

Read more
सीख

सीख

  • February 1, 2019

न कर कभी तू ऐसी शैतानी, कि किसी के लिए बन जाए वो परेशानी हर दम कर अपनी मनमानी, बन होशियार न कर नादानी नहीं किसी से ज़ुबान है लड़ानी, हर वो काम कर जो है तूने ठानी सबकी कर…

Read more
गोल-मटोल चंदा

गोल-मटोल चंदा

  • February 1, 2019

चंदा रूठा-रूठा सा आज, क्योंकि रहना है उसको गोल-मटोल, वह कहता यह बार-बार सूरज नहीं बदलता जब, तारें भी न छोड़े अपना आकार, फिर मैं क्यों नहीं रहता एक समान? बहुत हो चुका यह छोटे-बड़े, और ग़ायब होने का खेल,…

Read more
Funny Rhyming Song

Funny rhyming song

  • February 1, 2019

Come on children, let’s play a game, find the words that end the same I saw a dog, riding a hog, I saw a cat, chasing a bat I saw a fish, making a wish, And a drone playing games…

Read more
Loading...