दो भाई-बहन थे – पूर्ण और पूर्णिमा। पूर्णिमा ४ साल की थी और पूर्ण ७ साल का था। इन दोनों को एक-दूसरे से बहुत प्रेम था। एक दिन उनकी कॉलोनी में रंगोली की प्रतियोगिता हुई। इन दोनों भाई-बहिन ने भी…

Want to read this? Sign in or register for free.

      Register for free

हारने में भी जीत है
Average rating of 4.5 from 2 votes

Loading...