रमज़ान का पवित्र महीना था। ईद का त्यौहार जैसे-जैसे पास आ रहा था इमरान की उत्सुकता बढ़ती जा रही थी। उसने अपने जेब खर्च में से रु ५०० इकट्ठे किए थे अपने लिए नया कुर्ता पजामा खरीदने के लिए।

इमरान ने अपने मित्र जमाल को बुलाया, फिर दोनों साथ-साथ बाजार गए। उस दिन बाजार में बहुत भीड़ थी। कोई कपड़े खरीद रहा था तो कोई मिठाइयाँ। जबकि कुछ दूसरे लोग अपने घरों को सजाने के लिए तरह-तरह की चीज़ें चुनने में व्यस्त थे।

the best eid ever

जैसे ही इमरान और जमाल एक कपड़े बेचने वाले की दुकान में जाने लगे, उनका ध्यान उसके सामने चुपचाप बैठे एक छोटे लड़के पर गया। उस लड़के ने मैले और फटे कपड़े पहने हुए थे और उसकी आँखों में उदासी थी। वह आते-जाते लोगों से भीख मांग रहा था। इमरान और जमाल का मन उसके लिए बहुत दुखी हुआ।

कहानी का कौन सा अंत आपको सबसे ज्यादा पसंद आया? हमें नीचे बताओ।

शब्दार्थ

  • पवित्र – साफ
  • सरलता – आसानी

अँग्रेजी में पढ़िये

सबसे अच्छी ईद
Rate this post

Leave a Reply

Loading...