संतुलित आहार
Average rating of 5 from 2 votes

गोलू खाना खाने का बहुत शौक़ीन था। लेकिन वह फल, दाल, रोटी और सब्ज़ियों को कभी पसंद नही करता था। बर्गर, पिज़्ज़ा, ब्रेड एवं मैदा से बनी हुयी और तली भुनी चीज़ें उसे हमेशा अच्छे लगते। जब से उसने जंक फ़ूड खाना ज़्यादा कर दिया था तो उसका वज़न बढ़ गया और बच्चे उसको मोटू गोलू कह कर बुलाने लगे। जिनसे बचने के लिये वह न तो स्कूल में और न ही पार्क में उनके साथ खेलता था। सारा दिन घर पर कम्प्यूटर पर बैठा रहता। कोई भी शारीरिक व्यायाम न होने की वजह से उसका वज़न कम होने का नाम नहीं ले रहा था और बढ़ता ही जा रहा था। फ़ुर्तीला गोलू आलसी बन गया, उसके आलस का असर पढ़ाई पर भी पड़ रहा था। पहले क्लास में उसके बहुत अच्छे नम्बर आते, लेकिन अब वह पढ़ाई में पिछड़ने लगा था।

Santulity aahar

    गोलू ने ५ सितम्बर को अपने टीचर के लिये कार्ड बनाया। क्लास में लगभग सभी बच्चे टीचर के लिये कुछ न कुछ लाये थे। जैसे कि कुछ बच्चे फूल कुछ पेन एवं कुछ बच्चे तो कहानियों की किताब भी लेकर आये। टीचर ने सभी के गिफ़्ट बड़े ही प्यार से लिये और उन सभी को धन्यवाद बोला। फिर उन्होने बच्चों को संतुलित आहार के बारे मे पढ़ाया। जैसे कि सभी को सब्ज़ियाँ, दाल, रोटी और फल खाने चाहिये। दूध, दही और पनीर भी भरपूर मात्रा में लेना चाहिये इससे हमारी हड्डियाँ मज़बूत होती है क्योंकि इसमें पाये जाने वाला कैल्शियम यही काम करता है। जंक फ़ूड कम से कम खाना चाहिये। ये वज़न बढ़ाता है और बीमारियों के बढ़ाने के साथ-साथ, शरीर में फुर्ती भी कम करता है।

    फिर टीचर ने कहा कि आप सभी मुझसे इस विशेष दिन ‘शिक्षक दिवस’ पर वादा करो कि अच्छा खाना खा कर स्वस्थ बनोगे। यही मेरे लिये आज का सबसे बढ़िया उपहार होगा। क्लास के और बच्चों ने भी गोलू के साथ यह वादा किया। अब गोलू संतुलित खाना खाता है, इस कारण धीरे-धीरे उसका वज़न कम होने लगा है। खेल कूद में भी उसकी रूचि बढ़ने लगी है, इसलिये इन सबका असर पढ़ाई पर भी दिख रहा है क्योंकि वह पहले जैसा फुर्तीला और अच्छे नम्बर लेने वाला गोलू बन गया है।

शब्दार्थ:  

  • फुर्तीला – तेज़
  • पिछड़ने – पीछे रहने
संतुलित आहार
Average rating of 5 from 2 votes

Leave a Reply

Loading...