गुंजन ने विद्यालय से घर आ कर बताया। “आज हमें नए शब्द ‘रहस्य’ से परिचित किया। साथ ही दीदी ने कहा – जिसे भी रहस्य समझ में आया हो, वो सच्चे उदाहरण से बताएं”। गुंजन ने कहा, “मैंने अपने कुक्की-कुत्ते की…

Want to read this? Sign in or register for free.

      Register for free

रहस्यात्मक भौंक
Average rating of 5 from 1 vote

Loading...