मीना जबसे अपने विद्यालय में कप्तान बनी थी तबसे उसे लगता था कि उसकी सहेलियाँ उससे कुछ ठीक से बात- चीत नहीं कर रहीं थी। उसे यह हमेशा लगता रहता की उनके स्वभाव और व्यवहार में कुछ बदलावसा आ गया…

Want to read this? Sign in or register for free.

      Register for free

परिवर्तन
Average rating of 5 from 1 vote

Loading...