चाय से भरा दादाजी का प्याला , सुबह सुबह की दादाजी की चाय, अदरक, इलायची की कड़क चाय, सुड़क-सुड़क की आवाज़ आये, अख़बार पढ़कर चाय को पीते , हम सब को ख़बरें सुनाते जाते, और चाय का मज़ा लेते जाते,…

Want to read this? Sign in or subscribe.

      Subscribe

दादाजी का चाय का प्याला
Rate this post

Loading...