नन्ही रिया को अब स्कूल जाते हुए एक हफ्ता हो गया था। अब स्कूल में उसका मन लगने लगा था। उसके कुछ नए-नए दोस्त भी बन गए थे। आज उसकी दोस्त ईशिता एक सुन्दर-सुन्दर रबड़ (इरेसर) का पैकिट लेकर आई…

Want to read this? Sign in or subscribe.

      Subscribe

चोरी
Rate this post

Loading...