मीरा अपने बड़े भैया राजेश को बहुत प्यार करती थी और उनका कहना भी मानती थी। लेकिन उसे राजेश भैया की एक बात बिलकुल पसंद न थी। जब भैया का कोई मित्र उनसे मिलने आता या कोई पुस्तक लेने और…

Want to read this? Sign in or subscribe.

      Subscribe

इंतजार का सबक
Average rating of 5 from 4 votes

Loading...